Shop by Category
Aahaar Vihaar Our Madhmeh, Ek Anubhav

Aahaar Vihaar Our Madhmeh, Ek Anubhav

by   Smrati Gupta (Author)  
by   Smrati Gupta (Author)   (show less)
5.0 Ratings & 2 Reviews
Sold By:   Garuda Prakashan
₹299.00₹254.00

Short Descriptions

इस पुस्तक में लेखिका अपने व्यक्तिगत अनुभवों पर आधारित हैं और मधुमेह रोग के साथ अपनी जीवनशैली में किए गए परिवर्तनों की कहानी प्रस्तुत करती हैं। भारतीय संस्कृति के योग और आयुर्वेद के महत्वपूर्ण अंगों को मान्यता देते हुए, उन्होंने स्वस्थ जीवनशैली, पौष्टिक भोजन, और योग को मधुमेह के प्रबंधन में कैसे शामिल किया, यह बताया है। उनकी अनुभवपूर्ण दृष्टिकोण से, रोग प्रति उत्तरदातृत्व को बढ़ावा देते हुए, वह आयुर्वेदिक सलाह, आहार और स्वस्थ जीवनशैली के महत्वपूर्ण सिद्धांतों को साझा करती हैं।

More Information

ISBN 13 9798885751339
Book Language Hindi
Binding Paperback
Publishing Year 2023
Total Pages 132
Edition First
Publishers Garuda Prakashan  
Category Self Help   Health, Family & Personal Development  
Weight 150.00 g
Dimension 12.70 x 20.32 x 1.32

Customer Rating

5.0 Star

5.0 Ratings & 2 Reviews
5 Star
100 %
4 Star
0 %
3 Star
0 %
2 Star
0 %
1 Star
0 %

Reviews

Mr.

Good information and remedy to maintain health
Review by - Naresh , January 16, 2024

Inspiring and Informative...Must read book.

I found this book beneficial and inspiring, even though I don't have diabetes. Each chapter is well-written, organised and informative. The author shared her journey, her mistakes, her learning, and eventually how she conquered the disease through a straightforward yet effective routine and lifestyle. The book covers topics like awareness, herbal use, yogasans, and maintaining a positive mindset—which are essential for diabetes control. The author also shares tasty, healthy recipes. I recommend reading this book; it could potentially shift your outlook on life and lifestyle.
Review by - Ekta, January 16, 2024
View All Reviews

Product Details

हमारी भारतीय संस्कृति बहुत समृद्ध और प्राचीन है, योग और आयुर्वेद इसके मुख्य आधार स्तम्भ हैं, इसके अनुसार अपनाई गई भोजन परंपरा और जीवन शैली हमें रोग मुक्त रखने में बहुत मदद करते है। मधुमेह रोग काफी हद तक हमारी दिनचर्या और भोजन संबंधी रोग है। यह पुस्तक पूरी तरह मेरे अपने अनुभवों पर आधारित है। किस तरह मुझे मधुमेह रोग हुआ, मैंने अपनी दिनचर्या को बदला और पौष्टिक भोजन, योग, आयुर्वेद को अपनाया। क्या, कितना, कैसे और किस समय खाना है, सुनिश्चित किया। योग-व्यायाम का मधुमेह रोग में बेहद महत्व है, अपने सोने और जागने का समय बनाया। परिणाम स्वरूप मेरी रक्त शर्करा में सुधार होना आरंभ हो गया। अपने अनुभव के आधार पर मैं कह सकती हूँ, कि हमारी जीवन शैली ही शरीर के प्रत्येक छोटे से छोटे रोगों के लिए उत्तरदायी होती है। आयुर्वेद में बताए गए सत और काढ़े की उपयोगिता को लिखा गया है। हम अपने जीवन में कुछ गलतियाँ करके रोगी बन जाते हैं। मधुमेह रोग क्या है, क्यों और किस तरह होता है। भोजन के साथ ही नींद का भी मधुमेह रोग पर असर होता है। बच्चे - बूढ़े सभी योग और व्यायाम अपना सकते हैं, उनको योग सिखाने में किस तरह की सावधानियाँ रखना चाहिए। समय पर भोजन करना जरूरी क्यों है, सुबह का नाश्ता और रात का खाना शरीर के लिए अति आवश्यक होता है। विभिन्न अनाजों की उपयोगिता और कुछ स्वादिष्ट व्यंजनों को विधि सहित विस्तार से लिखा गया है।

whatsapp