Eesawad aur Purvottar Bharat Ka Sanskritik Sanhar (ईसावाद और पूर्वोत्तर भारत का सांस्कृतिक संहार)

Eesawad aur Purvottar Bharat Ka Sanskritik Sanhar (ईसावाद और पूर्वोत्तर भारत का सांस्कृतिक संहार)

5.0 Ratings & 3 Reviews
₹349.00₹314.00

Short Descriptions

        शैलेन्द्र कुमार की ईसावाद और पूर्वोत्तर भारत का सांस्कृतिक संहार एक ऐसे विषय को लेती है, जिसके बारे में बहुधा लोग जानते तो हैं, किन्तु उन्हें ये ध्यान नहीं आता कि पूर्वोत्तर भारत में ईसावाद ने कैसे अपने पैर पसारे और वहाँ की संस्कृति को नष्ट कर दिया। 

More Information

ISBN 13 978-1942426998
Book Language Hindi
Binding Paperback
Total Pages 283
Release Year 2021
Authors
Publishers Garuda Prakashan  
Category Non-Fiction   Indian History   History   Colonialism n Imperialism History   History and Environment   History of Civilization & Culture   New Release Books   Featured Books  
Weight 350.00 g
Dimension 15.00 x 23.00 x 2.00

Details

भारत में ईसावाद का अकबर के दरबार से प्रारम्भ1857 के स्वतंत्रता संग्राम में उसकी भूमिका, और फिर आगे चलते हुए पूर्वोत्तर के सभी सातों राज्यों में धीरे-धीरे ईसावाद का प्रवेश और उसका समाज और संस्कृति पर विध्वंसक प्रभावलेखक ने एक भारत में ईसावाद की यात्रा का एक व्यापक वृत्त खींचा है। साथ ही पुस्तक ये भी प्रश्न उठाती है कि क्या हमारे संविधान के तहत अल्पसंख्यकों को दिए गए विशेष अधिकारों का दुरुप्योग नहीं हो रहा है? या फिर ये मान्यता कि संविधान समाज में अपने “मजहब” को प्रचारित करने की खुली छूट—खुली प्रतिस्पर्धा की छूट प्रदान करता है? और यदि ऐसा है, तो फिर क्या एक लोकतंत्र में ये अपेक्षित है?

Customer Rating

5.0 Star

5.0 Ratings & 3 Reviews
5 Star
100 %
4 Star
0 %
3 Star
0 %
2 Star
0 %
1 Star
0 %

Reviews

जय हो

जब सस्ती होगी तब खरीदूँ गा
Review by - March 06, 2022

मिसनरियो.का षडयंत्र

पूर्वोतर भारत मे किस तरह ईसाई मिसनरी षडयंत्र रच रहे है । हिंदुओं को नष्ट कर रहे है । उसका उजागरता करता हुए यह पुस्तक ।
Review by - March 15, 2022

Best book

Must read❤
Review by - June 07, 2022
View All Reviews