Shop by Category

Rating and Reviews

5.0 Star

5.0 Ratings & 1 Reviews
5 Star
100 %
4 Star
0 %
3 Star
0 %
2 Star
0 %
1 Star
0 %

Reviews

क्या कहना !

इन विषयों पर मूल रूप में हिंदी में बहुत कम लिखा गया है । अनुवादित पुस्तकें पुस्तक की आत्मा नहीं होती । इस पुस्तक से काफी अपेक्षा है ।
Review by - October 26, 2021