Bharatpur Ka Surajmal: Jaat Yoddhaon ki Anupam Shaurya Gaatha

₹349.00₹314.00

Short Descriptions

ORDER NOW

More Information

ISBN 13 978-1942426943
Book Language Hindi
Binding Paperback
Total Pages 293
Edition 2021
Authors Muneesh Tripathi  
Publishers Garuda Prakashan  
Category Fiction   Military History   Historical Fiction   War Stories   Featured Books  
Weight 350.00 g
Dimension 12.70 x 19.80 x 2.00

Details

दिल्ली से अपना शासन चलाने वाले मुग़ल शासक औरंगजेब और अफगानिस्तान से बुलाए गए आक्रान्ता, अहमद शाह अब्दाली  को भारत में दिल्ली, मथुरा, भरतपुर, आगरा, यानी दिल्ली के आस-पास के क्षेत्रों में बहुत जबरदस्त विरोध झेलना पड़ा था। इतना ही नहीं, इन आक्रान्ताओं को बारम्बार पराजय भी झेलनी पड़ी और इस सफल चुनौती का झंडा फहराया था यहाँ के जाट सरदारों ने। भारत के इतिहास में इनकी सफलता और वीरता की ये कथा भुला दी गई।

मुनीष त्रिपाठी की "भरतपुर का सूरजमल: जाट योद्धाओं की अनुपम शौर्य गाथा" इन शोध-आधारित कथाओं को एक रोचक सूत्र में पिरोते हुए पाठकों के सामने रखती है। भरतपुर के सूरजमल से राजा चूड़ामन से लेकर जवाहर सिंह तक की वीरता की कहानी इस पुस्तक में है। कम ही लोग जानते होंगे कि जाटों ने आगरा और अन्य किलों पर भी कब्जा कर लिया था।